Sapna Jahan Lyrics - Brothers | सपना जहाँ | Sonu Nigam, Neeti Mohan | Ajay - Atul

1:16:00 AM Rahul Gawale 0 Comments


सपना जहाँ दस्तक न दे 
चौकट थी वो दुनिया मेरी 

बातोंसे थी तादाद में
खामोशियां ज्यादा मेरी

जबसे पड़े तेरे कदम
चलने लगी दुनिया मेरी

मेरे दिल में जगा खुदा की खाली थी
देखा वहापे आज तेरा चेहरा है

में भटकतासा एक बदल  हुँ
जो तेरे आसमाँ पे आके ठहरा है

तू रूह है तो मैं काया बनु
ता उम्र मैं तेरा साया बनु

कहदे तो बन जाऊ बैरा ग मैं
कहदे तो मैं तेरी माया बनु

तू साज मैं रागिनी
तू रात है मैं चाँदनी

मेरे दिल में जगा खुदा की खाली थी
देखा वहापे आज तेरा चेहरा है 

0 comments :