Abhi Mujh Mein Kahin | Agneepath | Lyrics in Hindi/English

9:33:00 PM Rahul Gawale 0 Comments






In Hindi

अभी मुझ में कहीं बाकी थोड़ीसी है जिंदगी
जगी धड़कन नई, जाना जिंदा हूँ मैं तो अभी
कुछ ऐसी लगन इस लम्हें में है
ये लम्हा कहाँ था मेरा

अब है सामने इसे छू लूँ जरा
मर जाऊँ या जी लूँ जरा
खुशियाँ चूम लूँ या रो लूँ जरा

धूप में जलते हुए तन को, छाया पेड़ की मिल गई
रूठे बच्चे की हंसी जैसे, फुसलाने से फिर खिल गई
कुछ ऐसा ही अब महसूस दिल को हो रहा है
बरसों के पुराने ज़ख्म पे मरहम लगा सा है
कुछ ऐसा रहम, इस लम्हें में है
ये लम्हा कहाँ था मेरा

डोर से टूटी पतंग जैसी, थी ये जिंदगानी मेरी
आज हो कल हो मेरा ना हो
हर दिन थी कहानी मेरी
इक बंधन नया पीछे से अब मुझको बुलाये
आने वाले कल की क्यों फ़िक्र मुझको सता जाये
एक ऐसी चुभन इस लम्हें में है
ये लम्हा कहाँ था मेरा


In English

abhee mujh mein kaheen baakee thodeesee hai jindagee
jagee dhadakan naee, jaana jinda hoon main to abhee
kuchh aisee lagan is lamhen mein hai
ye lamha kahaan tha mera


ab hai saamane ise chhoo loon jara
mar jaoon ya jee loon jara
khushiyaan choom loon ya ro loon jara


dhoop mein jalate hue tan ko, chhaaya ped kee mil gaee
roothe bachche kee hansee jaise, phusalaane se phir khil gaee
kuchh aisa hee ab mahasoos dil ko ho raha hai
barason ke puraane zakhm pe maraham laga sa hai
kuchh aisa raham, is lamhen mein hai
ye lamha kahaan tha mera

dor se tootee patang jaisee, thee ye jindagaanee meree
aaj ho kal ho mera na ho
har din thee kahaanee meree
ik bandhan naya peechhe se ab mujhako bulaaye
aane vaale kal kee kyon fikr mujhako sata jaaye
ek aisee chubhan is lamhen mein hai
ye lamha kahaan tha mera

0 comments :